TOP

इंडिया इंटरनेशनल ट्रेड फेयर-3 अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधित्व तो था लेकिन . . .

  • नई दिल्ली। प्रगति मैदान में चल रहे इंडिया इंटरनेशनल ट्रेड फेयर में हॉल संख्या 18 में अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधित्व तो है लेकिन कुछ खास या नया दृष्टिगत नहीं हुआ। वैसे तो इस शो में दक्षिणी अफ्रीका जहां साझेदार देश के रूप में है, तो थाईलैंड को फोकस देश का दर्जा मिला हुआ है। इसके अलावा कोरिया, इंडोनेशिया, मलेशिया, ईरान, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, ...
    और पढ़ें...


Load More...
विचार सागर
  • . ''कोई भी वस्तु प्राप्त करने से पहले और खो जाने के बाद अधिक महत्वपूर्ण होती है।'' - के.आर. कमलेश ''समस्या है तो क्या हुआ अपनी बुद्धि का उपयोग कर समस्या को हल कीजिए।'' -श्री चन्द्रप्रभ सागर
  • . ''संसार यानी आकुलता-व्याकुलता! फिर भी कैसे अच्छा लगता है, यही आश्चर्य है!'' - दादा भगवान ''तनाव से बचने के लिए अधिक से अधिक मुस्कराइये। एक मुस्कान सौ दवाओं का काम करती है।'' -श्री चन्द्रप्रभ सागर
  • . ''आज कुछ लोगों के द्वारा धर्म और मजहब के नाम पर, जाति और भाषा के नाम पर: देश और दुनिया को बांटा जा रहा है। ऐसे बांटने वालों को मैं मुनि तरुणसागर चुनौती देता हूं कि ऐ बांटने वाले इंसानों! तुमने लकीर खींच कर जमीन को तो बांट दिया, लेकिन मैं तुम्हारी शक्ति उस दिन मानूंगा जिस दिन तुम आसमान में लकीर खींच कर दिखाओगे। जिन दिन तुम हवा बांटकर दिखाओगे कि यह हिंदू की हवा है और यह मुसलमान की हवा है, अगर तुममें ताकत है तो जरा समय को हिंदू और मुसलमान के बीच बांटकर दिखाओ।'' - मुनिश्री तरुण सागर
  • . ''जगत किस कारण खड़ा हुआ है? वह 'अन्य' को देखता है, 'खुद' को नहीं'' - दादा भगवान ''आत्मनिर्भर होने से पहले शादी मत कीजिए, वरना यह बछड़ों पर गाड़ी का भार लादने के समान होगा।'' - श्री चन्द्रप्रभ सागर
  • . ''न जन्म महत्वपूर्ण है और न मृत्यु ही। दोनों के बीच कोई कैसे जीता है, यही महत्वपूर्ण है।'' - के.आर. कमलेश ''ऐसे कार्य मत कीजिए जो आप अपने बच्चों के जीवन में देखना नहीं चाहते।'' -श्री चन्द्रप्रभ सागर
Thoughts of the time
  • The capitalistic system is the oldest system in the world, and any system that has weathered the gales and chances of thousands of years must have something in it that is sound and true. We believe in the right of a man to himself, to his own property, to his own destiny, and we believe the government exists as the umpire in the game, not to come down and take the bat, but to see that the other fellows play the game according to principles of fairness and justice. - Nicholas Longworth
  • Capitalism is the only system in the world founded on credit and character. - Hubert Eaton
  • American capitalism has been both overpraised and overindicted. It is neither the Plumed Knight nor the monstrous Robber Baron. - Max Lerner
  • And the word is capitalism. We are too mealymouthed. We fear the word capitalism in unpopular, So we talk about the free enterprise system and run to cover in the folds of the flag and talk about the American Way of life. - Eric A. Johnston
  • Capitalism without bankruptcy is like Christianity without hell. - Frank Borman
राजस्थानी कहावत
अठै तो भोजिये रो गोल छै
यहां तो भोजिये का घेरा है
  • भोजिया उसे कहते हैं जिसकी सभी जगह चलती हो।
  • जिस पराक्रमी का रुतबा काम आये, उस संदर्भ में यह कहा जाता है।
  • भोजिये के घेरे को लांघना बहुत आसान नहीं होता।
-स्व. विजय दान देथा साभार : रूपायन संस्थान, बोरूंद
  • इस वर्ष आज तक की तेल खपत
    बेरल में
    28,372,112,584
  • आज की तेल खपत
    बेरल में
    60,221,589
  • U.S. Debt Clock

    Total Debt
    $ 17,512,327,857,707

    Per Capita Debt
    $ 55,046.28
  • India Debt Clock

    Total Debt
    Rs. 56,906,352,988,497

    Per Capita Debt
    Rs. 45,855
  • भारत की ताजा जनसंख्या
    1,257,854,079

    दुनिया की ताजा जनसंख्या
    7,230,429,888
राष्ट्रीय शेयर बाजार सूचकांक
अंतरराष्ट्रीय बाज़ार सूचकांक
X
Login