TOP

जापानी उद्यमियों को आमंत्रण

  • टोक्यो। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जापानी कारोबारियों को भारत के विकास की पहल में हाथ मिलाने के लिए आमंत्रित किया, साथ ही उन्होंने बगैर भेद-भाव के और तेजी से मंजूरी देने का वादा किया और जापानी कंपनियों को मदद करने के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय के तहत विशेष प्रबंधन दल की स्थापना की घोषणा की। यहां आयोजित जापान और भारत के शीर्ष उद्योगपतियों...
    और पढ़ें...


Load More...
विचार सागर
  • . ''बीच रास्ते से लौट जाने का कोई अर्थ नहीं है, क्योंकि चलना तो उतना ही पड़ेगा।'' -के.आर. कमलेश ''जन्मजात स्वभाव को बदलना आसान नहीं है, पर उस पर अंकुश लगाने का बोध रखना आपके हाथ में है।'' -श्री चन्द्रप्रभ सागर
  • . ''जगत में सभी को व्यवहार की फिक्र रहती है, लेकिन परमार्थ की फिक्र किसी को नहीं होती।'' - दादा भगवान ''ज्ञान यदि धन है तो अपने आपसे पूछिये कि आप कितने समझदार हैं।'' -श्री चन्द्रप्रभ सागर
  • . ''कर्म से बढ़ कर कोई धर्म नहीं, प्रतिबद्धता से बढ़ कर कोई कर्म नहीं।'' - के.आर. कमलेश ''भाषा अवश्य सुन्दर होनी चाहिए, पर आपकी पहचान आपके कर्मों से ही होगी।'' -श्री चन्द्रप्रभ सागर
  • . ''आलू बड़ा, मिर्ची बड़ा, दही बड़ा के अलावा आज एक और बड़ा का नाम समाज में आया है और वह है- मैं बड़ा। गृहस्थ कहता है- मैं बड़ा। साधु कहता है- मैं बड़ा। मेरा कहना है कि न गृहस्थ बड़ा है और न साधु बड़ा है बल्कि जो इस मैं बड़ा के लफड़े से दूर खड़ा है, वह बड़ा है। गृहस्थ और साधु दोनों अधूरे हैं क्योंकि दोनों एक-दूसरे पर निर्भर हैं। 23 घंटे गृहस्थ को साधु की जरूरत पड़ती है तो 1 घंटे साधु को भी (आहार के समय) गृहस्थ की जरूरत पड़ती है। श्रावक और मुनि धर्म-रथ के दो पहिए हैं और कोई भी रथ एक पहिए से नहीं चलता।'' -मुनिश्री तरुण सागर
  • . ''चोट लगने से हर वस्तु टूट जाती है किन्तु मनुष्य ही ऐसा है, जो ठोकर खाकर ही बनता है।'' - के.आर. कमलेश ''प्रतीक्षा करते रहने की बजाय बेहतर है आप स्वयं अवसर का निर्माण करने की पहल करें।'' -श्री चन्द्रप्रभ सागर
Thoughts of the time
  • Economists unanimity that bad business is ahead is the most reassuring news possible. It’s very unlikely that this will be the one time they’re right.
    - Malcolm Forbes
  • इस वर्ष आज तक की तेल खपत
    बेरल में
    28,372,112,584
  • आज की तेल खपत
    बेरल में
    60,221,589
  • U.S. Debt Clock

    Total Debt
    $ 17,512,327,857,707

    Per Capita Debt
    $ 55,046.28
  • India Debt Clock

    Total Debt
    Rs. 56,906,352,988,497

    Per Capita Debt
    Rs. 45,855
  • भारत की ताजा जनसंख्या
    1,257,854,079

    दुनिया की ताजा जनसंख्या
    7,230,429,888
राष्ट्रीय शेयर बाजार सूचकांक
अंतरराष्ट्रीय बाज़ार सूचकांक
X
Login