TOP

आदर्श के्रडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी 'आदर्श ' नहीं हैं निवेश गतिविधियां

  • टैक्स बचाने के लिए किए शेयर बाजारों में गलत सौदे सेबी ने सोसायटी द्वारा शेयर बाजारों में कारोबार पर लगाया प्रतिबंध जयपुर। राजस्थान के सिरोही में आधारित प्रमुख क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी आदर्श के्रडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड आम जनता द्वारा जमा कराई गई पूंजी का उपयोग शेयर बाजारों में गैरकानूनी सौदों के लिए कर रही है। ...
    और पढ़ें...


Load More...
विचार सागर
  • .

     ''जिन्हें किसी भी प्रकार का न्याय नहीं ढूंढना है, वे मुक्त हो जाते हैं।''

    - दादा भगवान
     
    ''प्रभु को प्राप्त करने के लिए आसक्ति छोडऩे की जरूरत है।'' 
    - शशि सुरेश राठी
  • .

     ''अच्छाई के लिए किसी पुरस्कार की प्रतीक्षा मत करो, अच्छाई तो अपने-आप में ही पुरस्कार है।''

    - के.आर. कमलेश
     
     
    ''आपकी चाहे कितनी प्रशंसा क्यों न हो, कभी अभिमान मत करो।'' 
    - शशि सुरेश राठी
  • .

     ''मेहनत और गाढ़े पसीने की कमाई को अपनी धर्मपत्नी के हाथों में सौंप देना, क्योंकि घर की असली लक्ष्मी तो वही है, जो लक्ष्मी तिजोरी में बैठे है, वह तो हमेशा खड़ी है। मगर की लक्ष्मी तो जीवनभर साथ देने वाली है। जो व्यक्ति बाजार की लक्ष्मी (धन-लक्ष्मी) से शराब पीता है और घर आकर गृह-लक्ष्मी का अपमान करता है। उसके साथ गाली-गलौच, मारपीट करता है तो वह जिंदगी में दोनों लक्ष्मी से वंचित हो जाता है। उसकी तिजोरी की लक्ष्मी तो सामने के दरवाजे से निकल जाती है और घर की लक्ष्मी पीछे के दरवाजे से चली जाती है। ''

    -मुनिश्री तरुण सागर
  • .

     ''व्यसन कहां हैं? जो गुप्त रखे हैं, वे ही व्यसन हैं। 

    जो खुले दिखाई देते हैं, वे व्यसन नहीं कहलाते।''
    - दादा भगवान
     
    ''दृढ़ चित्त वाला व्यक्ति, जो करना चाहे कर सकता है।'' 
    - श्री चन्द्रप्रभ सागर
  • .

     ''मन:स्थिति के कारण ही यह सृष्टि कभी अच्छी लगती है और कभी बुरी लगती है।''

    - के.आर. कमलेश
     
    ''जब अपने ऊपर बीतती है, तभी आदमी को बात समझ आती है।'' 
    - शशि सुरेश राठी
Thoughts of the time
  •  I believe it to be most true that it seldom happens that men rise from low condition to high rank without employing either force or fraud.

     
    - Niccolo Machiavelli
  •  In a living civilization there is always an element of unrest, for sensitiveness to ideas means curiosity, adventure, change. Civilized order survies on its merits and is transformed by its power of recognizing its imperfections.

    - Alfred North Whitehead
  •  A civilized society is one which tolerates eccentricity to the point of doubtful sanity.

    - Robert Frost
  •  An intelligent class can scarce ever be, as a class, vicious, and never, as a class, indolent. The excited mental activity operates as a counterpoise to the stimulus of sense and appetite.

    - Edward Everett
  •  Every attempt, by whatever authority, to fix a masimum of productive labor by a given worker in a given time is an unjust restriction upon his freedom and a limitation of his right to make the most of himself in order that he may rise in the scale of the social and economic order in which he lives. The notion that all human beings born into this world enter at birth into a definite social and economic classification, in which classification they must remain permanently through life, is wholly false and fatal to a progressive civilization.

     
    - Dr. Nicholas Murray Butler
राजस्थानी कहावत
आंख्या रौ तारो
आंखों का तारा
  • # अत्यंत प्रिय वस्तु के लिए संबोधन
  • # जिस पर जीवन की एकमात्र आशा केंद्रित हो
  • # आंखों की पुतलियां व उनकी ज्योति के सदृश जो व्यक्ति दुलारा हो
-स्व. विजय दान देथा साभार : रूपायन संस्थान, बोरूं
  • इस वर्ष आज तक की तेल खपत
    बेरल में
    28,372,112,584
  • आज की तेल खपत
    बेरल में
    60,221,589
  • U.S. Debt Clock

    Total Debt
    $ 17,512,327,857,707

    Per Capita Debt
    $ 55,046.28
  • India Debt Clock

    Total Debt
    Rs. 56,906,352,988,497

    Per Capita Debt
    Rs. 45,855
  • भारत की ताजा जनसंख्या
    1,257,854,079

    दुनिया की ताजा जनसंख्या
    7,230,429,888
राष्ट्रीय शेयर बाजार सूचकांक
अंतरराष्ट्रीय बाज़ार सूचकांक
X
Login
X

Login

X

Click here to make payment and subscribe
X

Forgot Password ?