TOP

ब्रेक्सिट ने मचाया तहलका

  • नयी दिल्ली। ब्रिटेन में हुए जनमत संग्रह में यूरोपीय संघ (ईयू) से अलग होने (ब्रेक्सिट) का फैसला आने के बाद शुक्रवार को शेयर बाजार और रुपये में भारी गिरावट दर्ज किए जाने पर केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि भारत इसके प्रभावों से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है। जेटली ने बीजिंग से एक ट्वीट में कहा, ''हम जनमत संग्रह के फैसले का सम्मा...
    और पढ़ें...


Load More...
विचार सागर
  • .

     ''स्वयं को सही साबित करने का अर्थ है, दूसरों को गलत साबित करना।""

    - दादा भगवान
     
    ''वाणी से बढ़कर चरित्र का कोई दूसरा परिचय नहीं है।"
    - सुरेश राठी
     
  • .

     ''अगर आप बेसहारा हैं तो किसी का सहारा बन कर तो देखिए, एक दूसरे का सहारा बनने में देर ही नहीं लगेेगी।'

    - के.आर. कमलेश
    ''परमात्मा का नाम अंदर जपते रहो और ऊपर से दुनिया से बात करते रहो'
    - सुरेश राठी
  • .

     ''जीवन रूपी गाड़ी के विचार और विश्वास रूपी दो पहिए हैं और दोनों के बीच विवेक रूपी धुरी है, जिस पर जीवन की यात्रा चलती है''

    - दादा भगवान
    ''जितनी अल्प आवश्यकताएं होंगी, जीवन उतना ही सुखी होगा''
    - सुरेश राठी
     
  • .

     

     
    ''हमारी समस्त गतिविधियों का मुख्य केन्द्र भविष्य ही रहता है, जबकि भविष्य कभी आता ही नहीं। जो आता है, वो वर्तमान ही होता है।''
    - दादा भगवान
     
    ''जीवन में आपत्ति का आना, उन्नति के लिए आवश्यक है।''
    - सुरेश राठी
  • .

     ''आत्म विश्वास हो तो निश्चित है कि आप उपेक्षित जीवन जीने से बच सकते हैं।''

    - के.आर. कमलेश
    ''जीवन में जो कुछ भी होता है, वह अच्छे के लिए ही होता है।''
    - सुरेश राठी
Thoughts of the time
  •  It is a mistake to look too far ahead. Only one link of the chain of destiny can be handled at a time.

    - Winston Churchill
  •  In this world there are only two tragedies: One is not getting what one wants, and the second is getting it.

     
    - OSCAR WILDE
  •  If things do not turn out as we wish, we should wish for them as they turn out

  •  We should aim rather at leveling down our desires than leveling up our means.

    - ARISTOTLE
  •  That businessmen should from time to time direct candid criticism toward our Government is only understandable but salutary in a free democracy.

    - Clarence B. Randall
राजस्थानी कहावत
आप आप री रोटी तलै सै खीरा देवै
अपनी-अपनी रोटी के नीचे सब अंगार देते हैं
  • # प्रत्येक व्यक्ति अपने ही स्वार्थ की पूर्ति करना चाहता है।
  • # दूसरों की भलाई करने का बहाना भी केवल अपनी स्वार्थ सिद्धि के निमित्त ही होता है।
-स्व. विजय दान देथा साभार : रूपायन संस्थान, बोरूं
  • इस वर्ष आज तक की तेल खपत
    बेरल में
    28,372,112,584
  • आज की तेल खपत
    बेरल में
    60,221,589
  • U.S. Debt Clock

    Total Debt
    $ 17,512,327,857,707

    Per Capita Debt
    $ 55,046.28
  • India Debt Clock

    Total Debt
    Rs. 56,906,352,988,497

    Per Capita Debt
    Rs. 45,855
  • भारत की ताजा जनसंख्या
    1,257,854,079

    दुनिया की ताजा जनसंख्या
    7,230,429,888
राष्ट्रीय शेयर बाजार सूचकांक
अंतरराष्ट्रीय बाज़ार सूचकांक
X
Login
X

Login

X

Click here to make payment and subscribe
X

Please subscribe to view this section.